अम्मा को पाय लागी

ammaफ़ोन की घंटी बजती है … ट्रिंग ट्रिंग
अम्मा ने उठाया: हाँ मैं बोल रही हूँ.
कुछ देर कोई आवाज़ नहीं आती
फिर उधर से : हाँ कौन?
अम्मा: अरे अम्मा बोल रही हूँ
वेंकोवर (कनाडा) से बिस्सु बेटे का फ़ोन था बोला
अरे बिस्सु बोल रहा हूँ
अम्मा: हाँ बोल बेटा सब ख़ैरियत तो है. लेकिन ये मेरी आवाज़ में कौन बोल रहा है.
(अम्मा की आवाज़ प्रतिध्वनि के रूप में सुनाई पड़ती है)
बिस्सु बोला: अम्मा मैं हीं तो बोल रहा हूँ, लगता है तुम सठिया गयी हो. आज दीवाली है ना इसलिए मेरा स्पेशल पाय लागी (प्रणाम)
अम्मा: अरे बेटा आशीर्वाद आशीर्वाद लेकिन सुन .. आज थोड़े ही है, वो तो कल थी.

बिस्सु: हाँ माँ हमारे लिए आज ही है.

अम्मा: नहीं बेटा हमारी तो हो गयी, हम लोग मद्रासी हैं ना, हम लोग नरक चतुर्दशी को ही मानते हैं. आज तो अमावस्या है.

बिस्सु: ठीक तो है ना माँ आज नरक चतुर्दशी ही तो है. आज हम लोगों ने सुबह ही फटाके भी छुड़ाए. घर के सामने नहीं. कुछ दूर एक मैदान में.

अम्मा: बेटा आज मंगलवार है, नरक चतुर्दशी सोमवार को थी

बिस्सु: आज सोमवार ही तो है ना माँ.

अम्मा: अच्छा तो  तू कल बोल रहा है ना और मैं आज सुन रही हूँ!

बिस्सु: नहीं अम्मा मै यहाँ से आज ही बोल रहा हूँ और तुम भी आज ही सुन रहे हो.

अम्मा: रख दे फ़ोन, दिमाग़ खराब कर रहा है.

 

 

 

 

 

मूलतःमाँके लिए रचित

10 Responses to “अम्मा को पाय लागी”

  1. मानसी Says:

    🙂 very sweet

  2. विष्‍णु बैरागी Says:

    ‘तू कल बोल रहा है ना और मैं आज सुन रही हूं ।’ कितनी व्‍यथा से भर है यह वाक्‍य

  3. seema gupta Says:

    अम्मा: अच्छा तो तू कल बोल रहा है ना और मैं आज सुन रही हूँ!

    बिस्सु: नहीं अम्मा मै यहाँ से आज ही बोल रहा हूँ और तुम भी आज ही सुन रहे हो.

    ” oh pardeshi bete or ma kaa hrdysparshee vartalap…..”
    regards

  4. ताऊ रामपुरिया Says:

    संक्षिप्त किंतु सशक्त पोस्ट ! बहुत शुभकामनाएं !

  5. दिनेशराय द्विवेदी Says:

    ये पोस्ट कल भी कहीं पढ़ी थी,और टिप्पणी भी कीथी।

  6. राज भाटिया Says:

    इस बिस्सु का दिमाग फ़िर गया है, कनाडा जा कर भी बाबली बुच ही रहा,लेकिन इस मां की व्यथा कोन जाने…….
    धन्यवाद

  7. LOVELY Says:

    सहयोग का बहुत धन्यवाद.
    ..सुंदर पोस्ट लिखी है आपने माँ के लिए.

  8. yoginder moudgil Says:

    वाह सुब्रमण्यम जी
    झकझोरती हुई पोस्ट
    साधुवाद

  9. kumar Says:

    I liked your tanjore painting ….. any idea about where to learn tanjore paings art in bangalore ……
    i have been collecting so many pictures for learning and doing … you can also refer this website for beautiful pictures of tanjore paintings http://www.tarangarts.com/tanjore-paintings/c-1.html

  10. ghughutibasuti Says:

    वाह, बहुत बढिया।
    घुघूती बासूती

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: