एक नयाग्रा प्रपात केरल में भी है

sampat-at-home

अक्सर ऐसा होता है कि जो चीज आप के पास रहती है उसमें हमारी रूचि उतनी नहीं रहती या उसे अहमियत नहीं देते . दूरस्थ स्थल अवश्य ही आकृष्ट करेंगे जहा जाना हमारे लिए अपेक्षाकृत खर्चीला और कठिन होता है. कहावत भी है कि घर की मुर्गी दाल बराबर. अथिरापल्ली हमारे लिए वैसा ही था. यह हमारे घर से मात्र ४५ किलोमीटर की दूरी पर है,. हमने ही क्या हमारे घरवालों ने भी नहीं देखा. बस सुन रखा था एक ऐसी जगह है. है तो बस है और वह कहाँ जाएगा. कभी न कभी देख ही लेंगे.   एक छुट्टी के दिन कोच्ची में कार्यरत छोटा भाई  संपत आया हुआ था. खाना वाना खा लेने के बाद उसी ने सुझाव रखा, भैय्या चलो कहीं घूम आते हैं. हमने पुछा कहाँ?  उसने कहा अथिरापल्ली. हमने भी हामी भर दी और निकल पड़े थे. यह तो वहां जाने के बाद ही पता चला कि हमने अप्सरा सदृश इस जगह को  कभी तवज्जो नहीं दी थी.  जाहिर है  इसके पीछे कुछ कारण भी रहे. एक तो ३० किलोमीटर का सड़क मार्ग ख़राब था. हमारे पास स्वयं का कोई वाहन नहीं था और यही मानसिकता कि पास ही तो है कभी भी देख लेंगे. athirapalli

शोलयार वन श्रंखला के वर्षा वनों से लगा, घने संरक्षित वनों के बीच जो विभिन्न प्रजातियों के वन्य जीवन की आश्रय स्थली भी है, एक के बाद एक, दो जल प्रपात हैं जिन्हें देख कोई भी झूमें बगैर नहीं रह सकता. यकीनन होश उडाने वाला प्राकृतिक सौन्दर्य. नाम है अथिरापल्ली और वाज्हचाल. केरल के थ्रिस्सूर  शहर से कोच्ची जाने वाले हाईवे  पर ३० किलोमीटर चलने पर चालकुडी   और वहां से बांयी और दूसरी सड़क पर ३३ किलोमीटर जाने पर अथिरापल्ली का जल प्रपात पड़ेगा. यहाँ से ४ किलोमीटर और आगे जायेंगे तो वाज्हचाल नाम का दूसरा प्रपात भी है जिसे भारत का नयाग्रा भी कहा जाता है.

athirampally-fallsपहले आप पहुंचते हैं अथिरापल्ली. यहाँ एक सुंदर उद्यान है. सामने ही बांस के घने झुरमुटों के बीच से आगे बढ़ने पर अपने सम्पूर्ण वैभव के साथ प्रवाहित हो रही चालकुडी नदी के दर्शन होते हैं. बांस  की टहनियों पर उछल  कूद करते अनेक बन्दर भी आपका स्वागत करते प्रतीत होते हैं. यहाँ लकड़ी से बने बेंच भी लगे हुए हैं जो आपको  वापसी में ललचाएगा क्योंकि अभी तो नीचे उतरना है. दाहिनी ओर नीचे जाने के लिए आरामदायक पत्थर बिछा मार्ग बना हुआ है जो कुछ लंबा पड़ता है. अति उत्साही प्रकार के पर्यटक सीधे नीचे भी उतर सकते हैं, सीढियों के प्रयोग के बिना ही. आधी दूर नीचे जाने पर ही जल प्रपात के प्रथम दर्शन होने लगते हैं भले ही गिरते पानी की गर्जना कानों में पहले से ही गूंजती रहती है. फ़िर आप सीधे आमने सामने रहते है इस भव्य प्रपात के. जब पानी की बूंदों की बौछार अपने मुह पर पड़ती है उस समय आनंद की कोई सीमा नहीं रहती. यहाँ भी बेंचें लगी हुई हैं आपके विश्राम करने के लिए. प्रपात के बहुत करीब जन जोखिम से भरा होगा. पिकनिक मानाने के लिए प्रपात के नीचे का स्थल आदर्श है.

vazhachalवापस ऊपर आने के बाद हमें उन बेंचों की याद आएगी ही जो उद्यान में लगे हुए हैं. यहाँ तनिक विश्राम करने के बाद आगे वाज्हचाल के लिए निकला जा सकता है. चालकुडी नाम के शहर से यहाँ इस ३० किलोमीटर का मार्ग सुखद है परन्तु अथिरापल्ली से आगे वाज्हचाल ४ किलोमीटर का मार्ग कच्चा और थोड़ा दुखदायी है. लेकिन जैसे ही प्रपात के दर्शन होंगे, पूरी थकान काफूर हो जायेगी. यहाँ भी प्रपात तक जाने की अच्छी व्यवस्था बनाई गई है. यहाँ से आगे का रास्ता एक वालपराई नामके  हिल स्टेशन को जाता है जहाँ चाय की बागान भी हैं.

vazhachal11वापस आप चलाकुडी होते हुए थ्रिस्सूर या कोच्ची जा सकते हैं. चालकुडी के करीब ही दो विश्व स्तरीय थीम पार्क/वाटर पार्क भी देखे जा सकते हैं.

यहाँ नीचे एक वीडियो भी दे रहे हैं जो अच्छी लगेगी.
 
 

 

57 Responses to “एक नयाग्रा प्रपात केरल में भी है”

  1. उन्मुक्त Says:

    हम लोग आजकल केरल यात्रा पर हैं। पहले से मालुम होता तो इसे भी देखते।

    इस जगह यदि दिल्ली से जाना हो तो कैसे पहुंचें?

  2. दिनेशराय द्विवेदी Says:

    इस स्थान के बारे में पहली बार जाना। धन्यवाद!

  3. Ratan Singh Says:

    बहुत सुन्दर स्थल दिखा दिया ! आभार !

  4. Ranjan Says:

    बहुत प्यारी जगह.. प्रक्रूति का सुन्दर खाजाना छिपा है..

  5. nirmla.kapila Says:

    mujhe to garv tha ki mai ek aise shehar me rehti hoon jisme kudrat ke nazaron ki bharmaar hai magar apki post ne to mujhe ashcharya me daal dya kash ye nayab nazara mere shahar me bhi hota dhanyvaad

  6. Vinay Kumar Vaidya Says:

    Really, Kerala is country of Gods . In Sanskrit -“SURAMYA”
    Meaning A place where Sur = Gods roam about, Sur + Ramya., or, Su+ Ramya, = beaytifyll, enchanting. Simply Wonderful and breathtaking. Thanks.

  7. प्रत्यक्षा Says:

    बहुत सुंदर !

  8. Abhishek Mishra Says:

    होली के बाद निश्चय ही बहुत सुन्दर स्थान का भ्रमण कराया आपने. धन्यवाद.

  9. ajit gupta Says:

    मैं केरल की यात्रा दो-तीन बार कर चुकी हूँ लेकिन इस प्रपात के बारे में किसी ने नहीं बताया, अब आपका विडियो देखकर मन कर रहा है कि अभी उड़कर जाऊँ। भारत के चप्‍पे-चप्‍पे में ऐसे ही पर्यटकीय स्‍थान हैं लेकिन हमें इसका मूल्‍य ही नहीं मालूम। यदि हम हमारा पर्यटकीय सोच बना लें तो भारत विश्‍व का प्रथम देश बन जाए। आपको इस जानकारी के लिए बहुत धन्‍यवाद। शीघ्र ही केरल का कार्यक्रम बनाने का प्रयास करूँगी।

  10. tanu Says:

    बेहद खूबसूरत……..

  11. संजय बेंगाणी Says:

    नयनाभिराम.

    बहुत ही सुन्दर स्थली है.

  12. himanshu Says:

    बहुत सुन्दर स्थल के बारे में बताया आपने. दृश्य बहुत ही सुन्दर हैं । धन्यवाद ।

  13. समीर लाल Says:

    अद्भुत!!

    इसके बारे में सुना था. आज जाना और पुनः चित्र देखे.

    आपका आभार भाई जी.

  14. Kishore Choudhary Says:

    बेहद सुन्दर पोस्ट सबसे गंभीर बात कि अग्रांश अति प्रभावी है जिसने बाँध के रखा क्योंकि घर का जोगी जोगना… वाली कटु बात कहने की हिम्मत सिर्फ सच्चे लोग करते हैं, पहले ही चित्र के साथ परिचय नहीं था तो मैंने मन के घोड़ों की रस्सियाँ खोल दी वे अब भी कहीं विचरण कर रहे हैं उम्मीद है आप उनको लौटा लायेंगे . प्रकृति के मनोहारी दृश्यों को आप जैसा प्रेमी ही इतनी बखूबी कैद कर सकता है इसका विश्वास है मुझे. हाँ जब तक बुढा जाऊं उस से पहले इस स्थान को देखने की इच्छा जाग गयी है.

  15. ताऊ रामपुरिया Says:

    बहुत सुंदर जगह के दर्शन करवाये.धन्यवाद.

    रामराम.

  16. raj sinh Says:

    adbhut ! saundarya itna apne hee pass bikhra hai aur hame pata naheen.

    video de kar aapne apne apne abhiyan me char chand lagaye hain. uttam prastuti.

    pata hai aapke yahan to aana laga hee rahega.

    dhanyavad PNS.

  17. seema gupta Says:

    दृश्य बहुत ही सुन्दर , बहुत सुन्दर स्थान का भ्रमण कराया आपने

    regards

  18. Lovely Says:

    मैं भी केरल जाने का मन बना रही हूँ . बहुत सुदर चित्र है .जाने -आने का मार्ग और निकटतम रेलवे और हवाई मार्ग भी लिख देते तो अच्छा होता

  19. Chiplunkar Says:

    इस स्थल को अभी तक तस्वीरों में ही देखा था, सिर्फ़ यह मालूम था कि केरल में कहीं है, लेकिन आपने जिस तरह से विस्तार से बताया, वह प्रशंसनीय है… बेहतरीन पोस्ट

  20. ranju Says:

    बहुत ही बढ़िया जानकारी दी है आपने ..बहुत खूबसूरत है यह तो ..कभी मौका मिला तो इसको जरुर देखेंगे शुक्रिया

  21. puja Says:

    bahut hi khoobsoorat jagah hai, kisi din ham bhi ghoomne ka program banate hain. share karne ke liye dhanyavaad

  22. विष्‍णु बैरागी Says:

    घर का जोगी जोगडा, आन गांव का सिध्‍द।
    नियाग्रा देख पाना वैसे भी हमारी क्षमता से कोसों दूर है। जब भी अवसर मिलेगा, आपके वाले नियाग्रा तक अवश्‍य जाएंगे।
    बहुत सुन्‍दर।

  23. प्रवीण त्रिवेदी-प्राइमरी का मास्टर Says:

    बढ़िया जानकारी दी है आपने ..बहुत खूबसूरत है यह तो ..

    होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली – हैप्पी होली !!!

    होली की शुभकामनाओं सहित!!!

    प्राइमरी का मास्टर
    फतेहपुर

  24. mahendra mishra Says:

    बढ़िया जानकारी दी है . होली की शुभकामनाओं सहित.

  25. anupam agrawal Says:

    बहुत सुन्दर .

    बस आप इसी तरह घुमाते रहिये .

    सजीव प्रस्तुतिकरण .

    लगता है हम आपके साथ घूमने गये थे

  26. naresh singh rathore Says:

    आपने बहुत सुन्दर स्थल के बारे में बताया है । उतना ही सुन्दर आपका लेखन कार्य भी है

  27. ghughutibasuti Says:

    बेहद सुन्दर जगह है। केरल देखने की इच्छा और भी बलवती हो रही है। हर जल प्रपात की अपनी सुन्दरता होती है, जो किसी भी अन्य से अलग होती है। बहुत सुन्दर फोटो हैं।
    घुघूती बासूती

  28. pritimav Says:

    आपके द्वार प्रस्तुत किये गये वीडियो क्लीपिंग को देखकर मुझे 15 साल पहले असम के उमरांग शहर में देखा गय़ा एलीफाल याद आ गया।
    वाकई कमाल का पोस्ट है।

  29. anil pusadkar Says:

    अद्भुत सुंदरता।एक नियाग्रा हमारे छतीसगढ मे भी है।बस्तर का चित्रकोट्।

  30. ज्ञान दत्त पाण्डेय Says:

    बस, यहीं मकान बनाने का मन करता है!

  31. Smart Indian Says:

    अरे वाह, इतने सुन्दर स्थल के बारे में जानकार आनंद आ गया. होली की शुभकामानाएं!

  32. पं.डी.के.शर्मा 'वत्स' Says:

    बहुत ही सुन्दर एवं मनोरम स्थल के बारे में बताया आपने……आभार
    अगर ईश्वर नें चाहा तो इस स्थान की यात्रा अवश्य करेंगे…..

  33. हरि जोशी Says:

    आनंद आ गया। केरल ऐसा प्रदेश है जो हमेशा ही अपने पास बुलाता है लेकिन अभी तक संयोग नहीं बन

  34. Gagan Sharma Says:

    बहुत ही सुंदर। चित्रों ने ही मोह लिया, सजीव कैसा होगा।
    आपकी बात बिल्कुल सही बैठती है मेरे पर। वर्षों बंगाल में रह कर भी दार्जिलिंग नही गये, क्योंकि कभी भी जा सकते हैं। उधर कश्मीर, हिमाचल सब घूम लिया।

  35. musafir jat Says:

    वाकई भारतीय नियाग्रा ही है
    लेकिन सबसे बड़ा प्रपात छतीसगढ़ में बस्तर में माना जाता है ना? ये भी कम नहीं है.

  36. अनूप शुक्ल Says:

    बहुत सुन्दर! अच्छा विवरण ! चित्र भी मनोहारी ! शुक्रिया!

  37. yoginder moudgil Says:

    Wah DADA Beautiful………..ah …wah….

  38. Lavanya Says:

    केरल का जल प्रपात मनोहारी है
    और जानकारी निस्सँदेह दुर्लभ
    आभार ऐसी बातेँ,
    साझा करते रहीयेगा –
    लावण्या

  39. विवेक रस्तोगी Says:

    स्वर्ग यहीं है यहीं है यहीं है…..

  40. Manish Kumar Says:

    केरल तो दो साल पहले रहकर हो आए तब इस स्थल की जानकारी नहीं थी। बाद में इसके बारे में पढ़ा था। आज इन चित्रों को देख मन प्रसन्न हो गया।

  41. राज भाटिया Says:

    सुब्रमन्यम साहब जी क्यो इतने सुंदर सुंदर स्थान दिखा कर ओर लेख लिख कर हमे तरसा रहे है, अगर आप युही दिखाते रहे तो अगली बार हम केरल जरुर आयेगे, केसे भी आये, ओर आप को ही पकडेगे, याता यात की फ़िक्र ना करे यह हम खुद ही कर लेगे, ओर रहने का इन्तजाम भी हम कर लेगे, लेकिन् आप को हमारे साथ तो रहना ही पडॆगा…
    बहुत ही सुंदर लगा, चित्रो मे इतना सुंदर है तो हकीकत मै कितना सुंदर होगा, चलिये अब कभी जरुर आयेगे.
    धन्यवाद

  42. swapandarshi Says:

    Thanks for this wonderful information. Please also post info regarding how to reach this place. I think this may be more beautiful than Niagra falls. Since Naigra falls lack this greenery, and the beautiful hills, and have constant traffic noise.

  43. alpana verma Says:

    Amazing pictures!
    Suna tha..magar aaj aap k post mein tasveer aur vedio dekh kar man khush ho gaya.
    kerala waise bhi bahut khubsurat hai..natural beauty har taraf bikhari hui hai…hariyali ..kerala ghumee hun magar yah jagah nahin dekhi..bahut sundar!

  44. amar jyoti Says:

    बहुत रोचक जानकारी। चित्रों से मन ललचा गया जल्दी ही वहां जाने को।

  45. sanjay vyas Says:

    ‘भगवान् के अपने देश’ में जगह है तो सुंदर होना तय है. फिर भी सहज विश्वास नहीं होता कि धरती पर अभी सुंदर जगहें बची है.आभार.

  46. ramadwivedi Says:

    बहुत खूबसूरत,बहुत मनमोहक दृश्य….धन्यवाद जानकारी बाँटने के लिए….

  47. Dilip Kawathekar Says:

    वाह वाह वाह !!!!

    इसके बारे में वास्तव में पता ही नहीं था. नियाग्रा की उपमा सही है,

    आप हमारे ही देश के पर्यटन दूत है, और सरकार के अ सरकारी प्रयत्नों के बावजूद आपकी जानकारी असर कारी है.

  48. mamta Says:

    निश्चय ये बहुत ही खूबसूरत है । आपका आभार इसे यहाँ पर हम सबसे बांटने के लिए ।

    अगर कभी केरल जायेंगे तो इसे जरुर देखेंगे ।

  49. mamta Says:

    आपने सच कहा था इसे देख कर मन खुश हो गया ।
    आज की शुरुआत आपकी इसी पोस्ट से कर रहे है ।

  50. Vineeta Yashswi Says:

    bahut achhi jagah ke baare mai jankari di apne…

  51. Dr.Arvind Mishra Says:

    What an enthralling beauty !

  52. रंजना. Says:

    Waah ! sachmuch adbhud ramneey…manmohak…
    sahaj hi anumaan lagaya ja sakta hai ki aaplogon ko is suramy pradesh kitna sukhad laga hoga..

  53. sandhya gupta Says:

    Sach kaha aapne jo chij pas hoti hai uski ahmiyat hum nahin samajhte hain.

  54. Shastri JC Philip Says:

    My co-brother had been insisting for a long time that we go to this place, but I never realized it would be so beautiful. Thanks for the photographs, as each one of them was worth a 1000 words!!!

    with love — Shastri

  55. अजित वडनेरकर Says:

    बहुत सुंदर जगह है।
    नियाग्रा की उपमा एकदम सही दी है। हरियाली तो उससे भी कहीं ज्यादा लग रही है।

  56. MISS NANCY LEWIS Says:

    hi bahoot hi sunder dryshya hai yu lag rahaa tha mano hum

  57. John Joseph Says:

    bahut khubsoorat jagah hei, aap ke jaisa me bhi gaon wala hun lekin ab tak sair karne gaya nahin, onam ki chhutti manane hum jaajenge. shukria

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: