हमारे अंगने में

ओणम पेशल विथ शुभकामनाएं

पूरे भारत में बारिश से जनता बेहाल है. कैसी विडम्बना है. जून और जुलाई के दोनों माह निकल गए और हम लोग बारिश की चंद बूंदों के लिए  भी तरसते रहे. इस माह भी उमड़ घुमड़ कर बदरा छाते रहे परन्तु न जाने क्यों उनमें बड़ी बेरुखी देखी गयी. बिना बरसे ही आगे बढ़ जाते. हाँ बदली के कारण गर्मी से कुछ छुटकारा जरूर मिला परन्तु उमस  ने बेहाल कर रखा है.  अब कुछ दिनों से रुक रुक कर बौछारें पड़ रही हैं  जिसको  मीडिया झमाझम कह रही है जबकि औसत बारिश भी नहीं हुई है. झीलों की इस नगरी में बड़ी झील का जल स्तर कुछ सेन्टीमीटर ही बढ़ा है जब कि हमें कई फीट चाहिए.  जल प्रदाय का मुख्य स्रोत कोलार बाँध का जल स्तर भी कुछ सेन्टीमीटर ही बढ़ा है. आने वाले दिनों में यदि बारिश न हो तो अगली गर्मी के दिनों में यहाँ से भागना ही पड़ेगा.

बागीचों के पेड़ पौधे भी सूख गए थे और यही हाल हमारे आँगन की बगिया का भी था. परन्तु कुछ बौछारों से प्रसन्न हो सभी पौधों में फिर से प्राण आ गए हैं. उनके द्वारा व्यक्त की जा रही ख़ुशी की  अभिव्यक्ति निम्न चित्रों में है.

अडेनियम या डेज़र्ट रोस

यह एक भारी बेल है, नाम का पता नहीं हैयह गुडहल की बहुत ही छोटी किस्म है

अंग्रेजी में नाम इक्सोरा है.यह अभी अध खिला है. गोलाकार लिए हुए पुष्प गुच्छ बहुत सुन्दर होता है.

यह बहुत ही छोटे फूल हैं. हमें नाम नहीं मालूम है

यहाँ इसे मधुकामिनी  कहते है. बेहद सुगन्धित.

यह बटन गुलाब है. बहुत छोटा परन्तु प्यारा सा

पारिजात – हरसिंगार

नोट:  इन चित्रों में से  कोई भी चुराए हुए नहीं हैं. सब हमारे ही हैं और चुराए जाने की पूरी छूट प्रदत्त है

42 Responses to “हमारे अंगने में”

  1. ali syed Says:

    @ आदरणीय सुब्रमनियन जी ,
    हमारा बस चले तो बादलों को रोक कर , अपने हाथों से झंझोड कर, ज़रूरत जितना पानी , आपकी नगरी की झीलों और डैम में उड़ेल दें ! फिलहाल अच्छी बारिश के लिए दुआयें ही भेज पा रहे हैं !

    आपकी बगिया के फूल बेहद खूबसूरत हैं इनमें से कुछ बदनसीब इस बिन फोटो वाले कद्रदान की बगिया में भी हैं🙂

  2. अनूप शुक्ल Says:

    फ़ूल सुन्दर हैं पोस्ट की तरह। बारिश की दुआयें बरसा रहे हैं।🙂

  3. arvind mishra Says:

    बेहद खूबसूरत -ऊपर से नीचे पांचवा -रजनीगंधा की लाल प्रजाति लग रही है ..नेट पर चेक करें प्लीज ,,उसके नीचे कामिनी है !

  4. RAJ SINH Says:

    आपने तो गुलज़ार कर दिया .
    धन्यवाद

  5. mamta Says:

    ओणम की बहुत-बहुत बधाई ।
    और आपकी बगिया के फूल तो बहुत सुन्दर है।

  6. vinay vaidya Says:

    आदरणीय सुब्रह्मण्यन् जी,
    अभी तो आपके आँगन के फूल ही सबका दिल चुरा रहे हैं ।
    हमारी कामना है कि वे हमेशा ही आपके आँगन में खिलखिलाते
    और मुसकुराते रहें । हम आपके ब्लॉग से ही उनके सौन्दर्य
    निहारकर सुखी होते रहेंगे ।
    और हाँ, भगवान से प्रार्थना है कि आपके प्रदेश में भी झमाझम
    वर्षा हो ।
    ऒणम् पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ ।

  7. प्रवीण पाण्डेय Says:

    आपको ओणम की शुभकामनायें। चित्र बड़े ही सुन्दर।

  8. हिमांशु Says:

    ओणम की हार्दिक शुभकामनाएं !
    बेहद खूबसूरत फूल खिले हैं आपके आँगन ! इनकी इस चित्रावली के लिए आभार !

  9. नरेश सिंह Says:

    आपकी बगिया को देख कर दिल बाग बाग हो गया है |

  10. Isht Deo Sankrityaayan Says:

    शुक्रिया. ओणम की शुभकामनाएं.

  11. मिहिरभोज Says:

    हमेशा की तरह पठनीय दर्शनीय

  12. प्रीतिमा वत्स Says:

    ओणम की ढेर सारी बधाईयां सुव्रमणियन जी। सपरिवार खूब सारी खुशियां मनाइये, और इसी तरह अच्छे-अच्छे पोस्ट डालकर हमारा ज्ञानवर्धन करते रहिए। हमारी दुआएं आपके साथ हैं।
    सादर,
    प्रीतिमा वत्स

  13. रंजना सिंह Says:

    इस मामले में हम बड़े अज्ञानी हैं…अधिकांश फूलों ,वनस्पतियों के नाम हमें नहीं मालूम…लेकिन इनकी सुन्दरता…अहहहा…उसके लिए तो प्रयास कर भी मन लुभने से नहीं बचा पाते…
    आनंदित कर दिया आपने इतने सुन्दर फूल दिखाकर…
    ईश्वर से हम भी गुहार लगा रहे हैं वर्षा के लिए…पता नहीं वे सुनेंगे या नहीं…

  14. पं.डी.के.शर्मा "वत्स" Says:

    बेहद खूबसूरत फूलों से सजी पोस्ट……(तीसरे नम्बर के चित्र में) संतरी कलर के फूल तो हमारे यहाँ भी लगे हुए हैं लेकिन ये मालूम नहीं था कि वो गुडहल की ही कोई प्रजाति है…..
    ओणम की बहुत बहुत बधाई!!

  15. वन्दना Says:

    बहुत सुन्दर चित्र्।

  16. rekha srivastava Says:

    ओणम पर हमारी बधाई स्वीकार करें. पुष्पों का इतना सुन्दर संग्रह बहुत सुन्दर लगा. जरूरत पड़ी तो जरूर चुरा लेंगे लेकिन आपको बता कर.

  17. समीर लाल Says:

    सुन्दर फूल..अच्छी तस्वीरें. आभार.

  18. ghughutibasuti Says:

    ओणम की शुभकामनाएँ।आपका बगीचा तो बहुत सुऩ्दर है। आशा है इतने सुन्दर फ़ूल देख बादल भी बरसने लगेंगे।
    ऊपर से पाँचवाँ लाल रंग का कनेर लगता है। इसे अंग़्रेजी में oleander कहते हैं। पत्ते पतले व लम्बे होते हैं।इस्को तोड़ने से स्फ़ेद रंग क दूध सा पदर्थ निकलता है।
    घुघूती बासूती

  19. rahulsingh Says:

    ओणम का उपहार तो आपने बधाई से पहले ही दे दिया. सो अब धन्‍यवाद.

  20. ghughutibasuti Says:

    ओणम की शुभकामनाएँ।आपका बगीचा तो बहुत सुऩ्दर है। आशा है इतने सुन्दर फ़ूल देख बादल भी बरसने लगेंगे।
    ऊपर से पाँचवाँ लाल रंग का कनेर लगता है। इसे अंग़्रेजी में oleander कहते हैं। पत्ते पतले व लम्बे होते हैं।इसको* तोड़ने से सफ़ेद* रंग का* दूध सा पदार्थ* निकलता है।
    घुघूती बासूती

  21. mahendra mishra Says:

    आपकी बगिया के फोटो देख कर आनंद आ गया … ओणम पर्व की शुभकामनाये….आभार

  22. नितिन Says:

    सुन्दर ! आपको ओणम की शुभकामनायें।

  23. satish saxena Says:

    ओणम के शुभ अवसर पर आपका यह उपहार अच्छा लगा भाई जी …हमारी तरफ से हार्दिक शुभकामनायें कबूल करें !

  24. sanjay Says:

    सुब्रह्मनियन सर,
    सबसे पहले तो ओणम की बधाई स्वीकारें। आप के लिये व आपके समस्त परिवार के लिये यह वर्ष हर भाँति शुभ हो।
    फ़ूल तो खूबसूरत ही होते हैं, और अगर अपने आंगन में इतने प्यार से उगाये गये हों तो फ़िर बात ही क्या है?
    सभी फ़ूल बहुत खूबसूरत दिख रहे हैं।
    बधाई स्वीकार करें।

  25. ताऊ रामपुरिया Says:

    बहुत ही सुंदर फ़ूलों की तस्वीरे लगाई आपने, हमारे यहां भी अभी तक इस बरसात में सिर्फ़ ५० ग्राम पानी ही बरसा है.

    रामराम.

  26. विष्‍णु बैरागी Says:

    आपके शब्‍दों में वेदना, आशंका, भय औा चित्रों में जिन्‍दगी के सारे रंग, उजास और खिलखिलाहट। दोनों ही सुन्‍दर।

    ओणम की हार्दिक शुभ-कामनाऍं।

  27. sareetha argarey Says:

    सबसे पहले तो आपको ओणम की ढे़रों शुभकामनाएँ । पुष्प प्रकृति के अनोखे वरदानों में से एक हैं और फ़ूलों का अनूठा पर्व जीवन को नई उमंग और उत्साह से लबरेज़ कर देता है । ईश्वर से कामना है कि आप भी इन फ़ूलों की मानिंद अपने ज्ञान के पुष्पों से वातावरण को यूँ ही सुवासित करते रहें ।

    सरिता अरगरे

  28. Gagan Sharma Says:

    सारे परिवार को ओणम की हार्दिक बधाई। इन फूलों की तरह ही हमारा भाई चारा सदा मुस्कुराता रहे।

  29. अनुनाद सिंह Says:

    ओणम की शुभकामनाएँ ।

    पुष्पों की सुन्दरता ने मन मोह लिया।

  30. aradhana Says:

    वाह ! इतने सुन्दर फूल. कुछ तो मैं चुरा ही लूँगी. ओणम की शुभकामनाएँ.

  31. राज भाटिया Says:

    बहुत सुंदर लगे सभी चित्र जी

  32. paramjitbali Says:

    आपको ओणम की शुभकामनायें। चित्र बड़े ही सुन्दर।

  33. संगीता पुरी Says:

    फूलों को देखकर चेहरे पर मुस्‍कान आ ही जाती है .. और फूल इतने सुदर हों तो कहना ही क्‍या ??

  34. - लावण्या Says:

    सुन्दर पुष्प वाटिका के चित्रोँ से त्यौहार निखर रहा है –
    अब एक पोस्ट ” ओणम पर भी लिखिए ना
    हम में से अधिकाँश लोग ओणम का महत्त्व
    या उस दिन क्या किया जाता है
    उस के बारे में नहीं जानते
    आपको ओणम की बहुत सारी मंगल कामना – –
    ये प्रविष्टी भी देखिये
    http://www.lavanyashah.com/2010/08/blog-post_22.html
    स स्नेह,
    – लावण्या

  35. ashok pandey Says:

    इस साल बारिश के लिए हम भी बहुत तरसे हैं। लेकिन सावन ने निराश नहीं किया। माघा नक्षत्र की रिमझिम ने हमारे यहां सूख रही धान की खेती में कुछ जान डाल दी है। ये सुंदर फूल भी शायद इसी तरह का भाव व्‍यक्‍त कर रहे हैं।

  36. अमर Says:

    बहुत ख़ूब!

  37. Kajal Kumar Says:

    इतने सुंदर फूलों की वाह क्या बात, ऊपर से फूलों को बांटने का न्यौता ! वाह. ओणम पर ढेरों शुभकामनाएं आपको भी. (मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि भारत से कहीं दूर, संयुक्त अरब अमीरात में, भारतीय राजदूतावास में ओणम के दिन कल अवकाश था.)

  38. Asha Joglekar Says:

    Kitane Sunder phool khile hain aapki bagiya men. Khoob pani barse aur aapki bagiya aisee hee khili khili rahe. Onam kee shubh kamnaen

  39. zeal [Divya] Says:

    गुरहल की छोटी प्रजाति पहली बार देखी । मधुकामिनी को उत्तर भारत में ‘ रात-रानी’ कहते हैं।

  40. Rakesh Bhartiya Says:

    आदरणीय सुब्रमनियन जी

    आपको ओणम की शुभकामनायें। चित्र बड़े ही सुन्दर।

  41. Rakesh Bhartiya Says:

    आदरणीय सुब्रमनियन जी ,

    आपको ओणम की शुभकामनायें। चित्र बड़े ही सुन्दर।

  42. sanjay bengani Says:

    ओणम की शुभकामनाएं (देर से सही🙂 ) . मैं यात्रा पर था, अतः ब्लॉग पर आने में देर हुई.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: