ब्लोगर बंधुओं से मुलाकात

इस वर्ष एक बड़ी घटना हुई. मेरी सहधर्मिणी का साथ छूट गया. परिवार के बहुत सारे सदस्य यहाँ आये और पारंपरिक कर्मकांडों के पश्चात मुझे अपने साथ ले गए. अपने गृह ग्राम में एक माह रहकर दूसरे भाई बहनों के यहाँ जाना हुआ. कोच्ची में मेरा एक और छोटा भाई रहता है. उसके साथ भी कई महत्वपूर्ण जगहों को देखना हुआ. कोच्ची में ही ब्लॉग जगत के एक धुरंदर शास्त्री जे.सी. फिलिप भी रहते हैं. हम लोगों की परंपरा के अनुसार स्वजनों के मरणोपरांत हम स्वयं होकर एक वर्ष तक किसी से भेंट करने नहीं जाया करते, परन्तु उनसे मिलने का लोभ संवरण नहीं कर पाया और उन्हें सन्देश दे दिया कि हम मिलने आ रहे हैं. वे स्वयं भी चाहते थे कि मेरे साथ हो लें.  दुबारा संपर्क किये जाने पर उन्होंने अपनी व्यस्तता जताई. शायद कहीं बाहर जाने का कार्यक्रम था.  एक दिन दिमाग ख़राब हो गया और हमने सीधे पूछा कितने बजे से कब तक आप घर पर उपलब्ध होंगे. उन्होंने शाम का वक्त दिया. उन्होंने हमें उनके घर के नजदीक के त्रिक्काकरा (वामन) मंदिर से लिवा ले जाने की पेशकश की. हम ने भी लट्ठ चलाई. हमने कहा हम ढून्ढ लेंगे आप चिंता न करें.

अब हमें अपना कार्यक्रम बनाना था. हमने अपने भाई से कहा चलो पहले यहाँ के भूतपूर्व शासक के ग्रीष्मकालीन महल को सतही तौर पर देखते चलते हैं. वैसे वहां कई बार जाना हुआ था. वह महल आजकल संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया है. हम लोग संग्रहालय पहुँच कर पीछे बने एक पारंपरिक (पुरानी साज सज्जा सहित) आवास में पहुंचे परन्तु अन्दर नहीं जा सके. वहां किसी फिल्म की शूटिंग चल रही थी. कुछ बालक सर मुंडाकर बटुक के वेश में थे जिन्हें अवकाश के समय आधुनिक प्लेट्स में खाना खिलाया जा रहा था. वहां एक बहुत ही बड़ा ताम्बे जल पात्र  प्रांगण में रखा हुआ था (वहीँ पड़ा रहता है). कुछ तस्वीरें लीं और उस घर के पीछे बने बावड़ी के भी चित्र लिए. इतने में शाम होने लगी तो फिर शास्त्री जी के घर के लिए निकल पड़े. जिस रास्ते से हम जा रहे थे वहां केरल की सबसे ऊंची ४४ मंजिला “चोइस” बिल्डिंग के दर्शन लाभ मिले. संध्या समय हम लोग शास्त्रीजी के दरवाजे पर थे.वास्तव में उस समय भी वे व्यस्त थे. उनके घर की पुरानी लाल सीमेंट का फर्श तोडा जा रहा था. अलमारियां बाहर पड़ी थीं. सब अस्त व्यस्त था. बावजूद इसके उन्होंने सपत्नीक हम लोगों के स्वागत में कोई कसर नहीं रखी. बातें भी खूब हुईं और हम लोग लौट पड़े थे.

मेरी पत्नी  के चल बसने  के दो  चार  दिनों  में ही अपने ब्लॉग जगत के भारी  भरकम  डा.अरविन्द  मिश्र  जी का भी मेरे निवास  पर आना  हुआ और खबर  पाकर  भोपाल  के ही एक  और युवा  ब्लोगर  श्री  सोमेश  सक्सेना  जी भी घर पधारे. मै उनका ह्रदय से आभारी हूँ. ब्लॉग जगत के अन्य मित्रों के स्नेह भरे सांत्वना दाई सन्देश भी ढेर सारे मिले. उनका भी ह्रदय से आभार. उन्हें भी मै संजो के रखूँगा.

आजकल आँखें बड़ी तकलीफ दे रही हैं इस कारण दूसरे ब्लोगों पर जाना नहीं हो पा रहा है. कल ही पता चला है कि दोनों आँखों में मोतिया बिंदु घर कर गयी है. मै सभी बंधुओं से करबद्ध  क्षमा चाहूँगा.

30 Responses to “ब्लोगर बंधुओं से मुलाकात”

  1. Bharat Bhushan Says:

    मोतियाबिंद हो तो कंप्यूटर से दूर रहना बेहतर है. आँखें गड़ा कर देखने से भी यह तकलीफ होती है.

  2. Dr.ManojMishra Says:

    आप जल्द स्वस्थ हों ,यही कामना है.

  3. राहुल सिंह Says:

    ऐसी पोस्‍ट पढ़ने की व्‍यग्रता बनी रहती है सो स्‍वार्थवश, आपके लिए शीघ्र और संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य लाभ की कामना.

  4. Bharat Bhushan Says:

    एक सूचना देने के लिए लौटा हूँ. 11 वर्ष पहले मुझे सफेद मोतियाबिंद की शिकायत हुई थी तब से होम्योपैथिक दवा Cineraria Maritima (now without alcohol) आँख में डाल रहा हूँ. अभी तक ठीक है. आपरेशन की आवश्यकता नहीं पड़ी. डाक्टर से परामर्श ले कर लीजिएगा.

  5. arvind mishra Says:

    हा हा भारी भरकम!
    मोतियाबिंद कोई समस्या नहीं है फेको सर्जरी करवाईये पहले एक आँख फिर तीन महीने बाद दूसरी …केवल आधे घंटे की सर्जरी है और दूसरे दिन पट्टी भी हट जायेगी !

  6. jyoti mishra Says:

    I wish u get well soon !!

    Regards..

  7. प्रवीण पाण्डेय Says:

    आप स्वास्थ्यलाभ शीघ्र करें। ब्लॉगरों से मिलना एक आनन्ददायी अनुभूति है।

  8. Asha Joglekar Says:

    आप जल्द ही स्वस्थ हों और ब्लॉग जगत में वापिस आकर हमें अनुग्रहित करें ।

  9. arunesh c dave Says:

    शीघ्र स्वास्थ लाभ कर हम युवाओं का ब्लाग जगत मे मार्ग दर्शन करें

  10. incitizen Says:

    मोतियाबिन्दु से आनन्द की भी प्राप्ति होती है, विश्वास न हो तो काका हाथरसी की एक कविता पढ़कर देखियेगा. जल्द ही आपरेट करा लें..

  11. ताऊ रामपुरिया Says:

    अतयंत सुंदर भाषा में लिखा गया यात्रा संस्मरण, आंखों का आपरेशन आजकल बहुत आसानी पूर्वक हो जाता है, डाक्टर से संपर्क करके उचित इलाज करवाईये. बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

  12. sanjay Says:

    स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें, जरूरी है।

  13. ali syed Says:

    अरविन्द जी की सलाह मान लीजिए सर्जरी जल्द करवाइए !

  14. Shikha Varshney Says:

    Get well soon..

  15. Ratan Singh Shekhawat Says:

    आंखों का आपरेशन जल्द करवाएं | शुभकामनाएँ |

  16. Smart Indian - स्मार्ट इंडियन Says:

    यह मेल-मिलाप और मुलाकातें चलती रहें, यही दुआ है। मोतियाबिन्द के बारे में डॉ मिश्र की सलाह ठीक है। चिकित्सक की सलाह लेकर जल्दी से सर्जरी कराकर चिंता से मुक्त होइये।

  17. समीर लाल Says:

    स्वास्थय का ध्यान रखें…बाकी मेल मुलाकात तो सिलसिला बना ही रहे हरदम.

  18. विष्‍णु बैरागी Says:

    आप पढना बन्‍द कर दीजिए और केवल लिखते रहिए – हम सबके लिए। आप पूर्ण स्‍वस्‍थ बने रहें और आपका ‘लेखनी-प्रसाद’ हम सबको निरन्‍तर, अनवरत मिलता रहे, प्रभु से यही याचना है।

  19. irdgird@gmail.com Says:

    ईश्‍वर से आपके शीघ्र स्‍वास्‍थ्‍य लाभ की प्रार्थना है।

    हरि

  20. Gagan Sharma Says:

    मोतियाबिंद का इलाज तो सुना है बहुत आसान और कम समय मे हो जाता है। आपके स्वास्थ्य की कामना है।

  21. yoginder moudgil Says:

    umar ke is padav par saathi se bichhoh kashtkari rahta hai……..aadarniya ko shraddhasuman arpit karta hoon…… aap doctor ke nirdeshanusaar aankh ka ilaj karwaen……motiyabind koi samasya nahi hai….. shesh shubh… prabhu aapko swasthya laabh den…..

  22. archana Says:

    शिघ्र स्वस्थ हों यही कामना…

  23. Suresh Chiplunkar Says:

    अतिशीघ्र स्वस्थ हों यह शुभकामना करते हैं… आपका लिखा हुआ रोचक होता है।

  24. Alpana Says:

    बटुक के वेश में बाल कलाकार अच्छे लग रहे हैं.
    ————–
    शास्त्री जी से और अरविन्द जी से आप मिले,जानकर खुशी हुई.
    अरविन्द जी ने तो अपनी पोस्ट में इस बारे में ज़िक्र किया था.

    जिन को हम शब्दों के ज़रिए जानते हैं उनसे आमने सामने बैठ कर बात कर पाना एक अलग ही आनंदपूर्ण अनुभव होता है.
    —आप अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखिये .जब आप को डॉक्टर सलाह दें,तब अच्छे से हस्पताल में ऑपेरशन करवा लें.
    -आँखों पर जोर न दें ,अगर कोई पोस्ट नहीं भी पढ़ पायेंगे तो कोई बुरा नहीं मानेगा.
    स्वास्थ्य पहले है..बाकि सब बाद में…

    सादर.

    हस्पताल में मोतियाबिंद का ऑपरेशन करवा लें.

  25. Alpana Says:

    बटुक के वेश में बाल कलाकार अच्छे लग रहे हैं.
    ————–
    शास्त्री जी से और अरविन्द जी से आप मिले,जानकर खुशी हुई.
    अरविन्द जी ने तो अपनी पोस्ट में इस बारे में ज़िक्र किया था.

    जिन को हम शब्दों के ज़रिए जानते हैं उनसे आमने सामने बैठ कर बात कर पाना एक अलग ही आनंदपूर्ण अनुभव होता है.
    —आप अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखिये .जब आप को डॉक्टर सलाह दें,तब अच्छे से हस्पताल में ऑपेरशन करवा लें.
    -आँखों पर जोर न दें ,अगर कोई पोस्ट नहीं भी पढ़ पायेंगे तो कोई बुरा नहीं मानेगा.
    स्वास्थ्य पहले है..बाकि सब बाद में…

    सादर.

  26. J C Joshi Says:

    जब हम बच्चे थे तो चालीस के दशक में हमारे पिताजी को उनके घर से पत्र आते थे तो सबसे पहले तो लिखा होता था श्री श्री १०८ श्री xxxx जी

    मुख्य देह को यत्न करला तब हमारी पालना होली (यानि अपना ध्यान रखोगे तभी हमारा भी रख पाओगे!)
    xxxxxxxxxxxx xxxxxxxxxxxx

    शुभकामना सहित,
    जीवन

  27. ghughutibasuti Says:

    चलिए, पहले मोतियाबिन्द का उपचार कराइए। टिप्पणियाँ भी हम तभी करेंगे।
    घुघूती बासूती

  28. RAJ SINH Says:

    kshama karen nagree kee suvidha is samay naheen hai .Padh maja aaya ( hamesha kee tarah ) Blogger mitron se mil aanand ke kuchh maje maine bhee liye hain .’ Shastree jee kee hee prerna thee ki Blog jagat ka hissa bana . Arvind Mishra jee se to udharee🙂 ,vasoolanee hai ,vo liye taiyyar baithe hain .Main hee abhaga hoon .Abhee tak ‘ Kashi Yatra ‘ naheen ho payee . Hogee to jaroor . Aap unkee salah jaldee se pooree kijiye ,nivedan samajh mera .

  29. ललित शर्मा Says:

    किसी दक्ष सर्जन से सर्जरी करवाएं, एवं स्वास्थ्य लाभ लें।

    आभार

  30. vijay sharma Says:

    motiya bid umr ke sath ho hi jata hi es ke liya prkartik tarika dodana chhiya

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: