विवाह विच्छेद के लिए भी निमंत्रण

शीर्षक जरूर कुछ अटपटा लगेगा.  एक ऐसा ही निमंत्रण पत्र बाकायदा लिफ़ाफ़े में मेरे रहते मेरे भाई के घर आया था. सन्दर्भ था तमिलनाडु के विधान सभा का इस अप्रेल में चुनाव. कोयम्बतूर (दक्षिण)  रेस कोर्स इलाके से चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी (विजय आनंद) ने यह अनुपम प्रयोग किया. मक्कल शक्ति (जन शक्ति) नाम के एक दल ने अच्छे पढ़े लिखों को खड़ाकर भ्रष्टाचार के विरुद्ध कई स्थानों से चुनाव लड़ा था. विजय आनंद कोई ख़ास मुकाम पर तो नहीं पहुँच पाए क्योंकि उन्हें केवल १७८५ मत ही प्राप्त हुए. परन्तु  भ्रष्टाचार के विरुद्ध अपनी लड़ाई और जन जागरण में लगे हुए हैं. उनको अपनी शुभकामनाएं देते हुए उनके द्वारा प्रेषित निमंत्रण तथा वोट के बदले जो  नोट उन्होंने भेजा था उनकी छाया प्रतिया यहाँ दे रहा हूँ:

फेस बुक में विजय आनंद का लिंक:

http://www.facebook.com/CleanPoliticsVijay

29 Responses to “विवाह विच्छेद के लिए भी निमंत्रण”

  1. Gyandutt Pandey Says:

    बड़ा रोचक प्रयोग किया विजय जी ने! आशा है भविष्य में कभी सफल होंगे!

    हां, बापू के चित्र वाले करेंसी नोट को डी-फेस करना जमा नहीं! शायद जोश में कर गये वे।

  2. प्रवीण पाण्डेय Says:

    अभिनव प्रयोग

  3. arvind mishra Says:

    वाह क्या आईडिया है ?:)

  4. ललित शर्मा Says:

    बढिया प्रयोग, गांधी जी का सदुपयोग हो रहा है।

  5. राहुल सिंह Says:

    अनूठा प्रयोग.

  6. Dr.ManojMishra Says:

    वाकई नव प्रयोग है यह.

  7. विष्‍णु बैरागी Says:

    निस्‍सन्‍देह अनूठा प्रयोग है किन्‍तु इससे मुद्दे की गम्‍भीरता कत होती है। इस उम्‍मीदवार को कम वोट मिलने के पीछे यह ‘परिहासप्रियता’ भी एक कारण रही होगी।

    गॉंधीजी के चित्र वाले नोट को विरूपित कर प्रस्‍तुत करना आपत्तिजनक है।

  8. संजय @ मो सम कौन? Says:

    हटकर है विजय आनंद जी का अंदाज, लेकिन खुशकिस्मत हैं कि अब तक नोट विरूपित करने के मामले में धरे नहीं गये। बहुत संभावना है कि भविष्य में कभी इनकी मुहिम पंक्चर करने में यह प्रकरण सत्तासीन लोगों के काम आयेगा।
    ऐसे ही एक व्यक्तित्व पर अनूप शुक्ल जी का लेख पढ़ देखिये, अच्छा लगेगा-
    http://hindini.com/fursatiya/archives/2091

  9. जी.के. अवधिया Says:

    जोरदार और अनूठा प्रयोग है!

  10. Ratan Singh Shekhawat Says:

    रोचक प्रयोग
    Gyan Darpan
    RajputsParinay

  11. Ratan Singh Shekhawat Says:

    रोचक और अनूठा

  12. Bharat Bhushan Says:

    1000/- रु. के नोट पर लाख टके की बात. बढ़िया.

  13. Gagan Sharma Says:

    कुछ अलग सा अंदाज, कुछ अलग सी सोच।

  14. विवेक रस्तोगी Says:

    हटकर प्रयोग ।

  15. हरि जोशी Says:

    गजब

  16. Abhishek Mishra Says:

    अनूठा और रोचक प्रयोग.

  17. rashmi ravija Says:

    बहुत ही रोचक और अलग सा अंदाज़

  18. pujaupadhyay Says:

    रोचक…लेकिन उम्मीदवारों से थोड़ी गंभीरता की उम्मीद की जाती है. शायद इसलिए इनका ये प्रयोग असफल रहा. हाँ लोगों की नज़र में आ गए होंगे.

    नोट छापना ही था तो गांधीजी की तस्वीर हटा देनी चाहिए थी…इस बात से मैं भी सहमत हूँ.

  19. mahendra mishra Says:

    ajab gajab duniya hai ese logon ki bhi kami nahi hai …

  20. sktyagi Says:

    Very unfortunate to get just 1785 votes in his kitty…proves the fact that popularity of a movement does not necessarily get translated into votes!!

  21. समीर लाल Says:

    बहुत सही!!

  22. shubhada Says:

    is whistle se to bugule ki aawaz sun pad rahi hai bhrashtar ke khilaaf.

  23. ajit gupta Says:

    नूतन प्रयोग।

  24. Isht Deo Sankrityaayan Says:

    यह एक अच्छा प्रयोग है. भगवान करें, सफल हो.

  25. DR. Monika Sharma Says:

    Bahut Badhiya ji…..Shubhkamnayen

  26. sanjay bengani Says:

    थोड़ा फिल्मी लगा.

  27. Alpana Says:

    natakiy !.

    lekin yuvaOn mein aisa josh dekhkar accha lagta hai.

    desh jaldi doobega nahin ,umeed bandhi rahti hai,

  28. Rajendar swaroop Says:

    anand ke liyre maja jaroorihai ap sabhi log R.S Saxena se jaroor mile

  29. Rajendar swaroop Says:

    maja aa gaya

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s


%d bloggers like this: